Breaking News

(Rafale)फाइटर जेट राफेल के बारें में

0 0

राफेल एक उन्नत किस्म का फाइटर जेट प्लेन है । जिसे फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन ने बनाया है ।

सरकार के अनुसार भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल विमानाें के लिए 59000 कराेड़ रूपये में समझाैता वर्ष 2016 में किया ।

राफेल विमानाें की पहली खेप के तहत विमान फ्रांस के मेरीनेक एयरबेस से उड़ान भरकर 29 जुलाई, 2020 काे भारत के राज्य हरियाणा के अंबाला एयरबेस पर पहुँचे ।

फ्रांस से उड़ान भरने के 7 घंटे बाद राफेल की पहली लैंडिग यूएई की डफरा एयरबेस हुई ।

भारत काे मिले राफेल फाइटर विमान 4.5 पीढ़ी के विमान है । राफेल काे खरीदने वाला पहला देश इजिप्ट है ।

भारत राफेल विमान काे खरीदने वाला चाैथा देश है । इससे पहले इन देशाें ने राफेल विमानाे काे खरीदने के लिए फ्रांस सरकार के साथ समझाैता किया ।

  1. इजिप्ट
  2. कतर
  3. भारत
  4. ब्राजील आदि ।

राफेल विमान काे उड़ान भरने वाले पहले भारतीय पायलट हिलाल अहमद है । भारत आने वाले राफेल का नेतृत्व वर्ष 2009 में शाैर्य चक्र सम्मानित ग्रुप कैप्टन हरकीरत सिंह ने किया ।

राफेल की भार वहन क्षमता 9500 किग्रा़. है , यह विमान अधिकतम 24500 किग्रा. तक के वजन के साथ यह 60 घंटे की उड़ान भरने में सक्षम है ।

राफेल विमान में तीन प्रकार की मिसाइल प्रयाेग हाेती जाे निम्नवत: है – स्काल्प मिसाइल, मीटियॉर मिसाइल और हैमर मिसाइल।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *